Network Marketing After Lockdown |लॉकडउन के बाद नेटवर्क मार्केटिंग का क्या होगा?

1
1229
Network Marketing After Lockdown in Hindi Blog Image

नेटवर्क मार्केटिंग 0 से शुरू होकर पूरे दुनिया और भारत में एक बड़ी व्यवसाय के रूप में अपने आप को स्थापित किया है| परंतु आज कोरोना वायरस के प्रभाव से नेटवर्क मार्केटिंग और अन्य कई व्यवसायियों को बिल्कुल जमीन पर ले आया है| कोरोना वायरस के प्रकोप से पूरे दुनिया के अधिकतर देशों का अर्थव्यवस्था चरमरा गई है| भारत में कई कंपनियां ,छोटे-मोटे उद्योग हमेशा के लिए बंद हो जाएगा, और इससे लोगों में और अधिक बेरोजगारी बढ़ेगी| और लॉकडउन के बाद नेटवर्क मार्केटिंग में कई छोटे कंपनियां और ROI, पोंजी स्कीम की कंपनियां होगी विलुप्त |

कोरोना वायरस  नेटवर्क मार्केटिंग के लिए क्यों बना है खतरा?

नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय का जन्म कब और कहां हुआ ?

नेटवर्क मार्केटिंग की कंपनियों और लीडरों ने एक लमबी और कड़ी परिश्रम करके अपने व्यवसाय और टीम को खड़ा किया था| लेकिन आज कोरोना वायरस की वजह से पूरी व्यवसाय और टीम लॉकडउन में है| जिसके कारण कंपनियों व लीडरों को काफी नुकसान हो रहा है, और अधिक नुकसान होने की संभावना है| आज लगभग सभी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों और लीडरों का व्यवसाय पूरी तरह से बंद हो चुका है| कोरोना लॉकडउन खत्म होने के बाद कंपनियों और लीडरों को लंमबे समय तक परिश्रम करने के बाद अपने-अपने व्यवसाय को कितना बड़ा कर पाएंगे, यह समय ही तय करेगा| लेकिन लॉकडउन मे नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों और लीडरों के पास बहुत बड़ी चुनौती है|

कोरोना वायरस लॉकडउन की वजह से नेटवर्क मार्केटिंग की कई कंपनियां होगी बंद ?

हम कैसी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों में अधिक सफलता पा सकते हैं| समझने के लिए हम तीन हिस्सों में कंपनियों को बांटेैं है|
   
पहला – बंद होने वाली कंपनियां?
कोरोना वायरस लॉकडउन की वजह से उन कंपनियों में परेशानियां काफी बढ़ेगा जो कंपनी नेटवर्क मार्केटिंग के नाम पर पोंजी स्कीम, ROI प्लान चलाते हैं| इन सभी कंपनियों को लगभग बन्द होना तय है| क्योंकि इस तरह की कंपनियां पैसे की रोटेशन से कुछ समय तक टिकती है, परंतु लॉकडाउन होने के कारण अधिकतर कंपनियों के पास पैसा आना बंद हो गया है| और इससे कई कंपनियां अब वादा किया गया पैसा अपने डिस्ट्रीब्यूटर को देना बंद कर दिया है|

भारत में नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत कब और किसने किया ?

पोंजी स्कीम, ROI प्लान  में लोग लालच में आकर कैसे हो जाते हैं कंपनियों का शिकार?

पोंजी स्कीम, ROI की कंपनियों में कई लोगों का बड़ी रकम लगा होता है, लोगों के द्वारा लगाया गया पैसे के बदले में कंपनियां अपने डिस्ट्रीब्यूटर से वादा करती है, कि प्रतिमाह आपको पैसे लौटएंगे| परंतु आज अधिकतर कंपनियां पैसे लौटाना बंद कर दी है| जिसके कारण लोगों में डर का माहौल है, इस तरह की कंपनियों में काम कर रहे डिस्ट्रीब्यूटर को डर होने के बाद कंपनियों में नया व्यवसाय जाना बंद हो जाता है| क्योंकि लोगों को पैसा नहीं मिलने की वजह से लोग नकारात्मक हो जाते हैं| पोंजी स्कीम या ROI कंपनियों के पास पैसे जाना कम या बंद हो जाता है| तो कंपनियां नुकसान में जाने लगती है, और कंपनियां बंद हो जाती है| लोगों का पैसा पोंजी स्कीम, ROI या अन्य इस तरह का प्लानो में लोगों का पैसा कभी भी सुरक्षित नहीं होता है| एक नेटवर्क होने के नाते मेरा मानना है, कि अपने द्वारा कड़ी परिश्रम करके कमाया गया पैसे उसको ऐसे कंपनियों में जल्दी पैसा कमाने या डबल करने के चक्कर में ना पड़ें|

दुसरा टीकी रहने वाली कंपनियों में कौन-कौन और कैसी कंपनियां शामिल है ?

What is Generation Plan

टिकने वाली कंपनियों का मेरा तात्पर्य है, जो कंपनियां नेटवर्क मार्केटिंग में लंबे समय से काम करते हुए, अपने आप को इस व्यवसाय में अस्थाई करते हुए बड़ी सफलता तथा बड़ी व्यवसाय कर चुकी है| या लॉक डॉन से पहले कर रही थी|

लॉकडाउन के बाद 10 साल से अधिक पुरानी कंपनियों में काम करना पड़ेगा लोगों को महंगा?

नेटवर्किंग मार्केटिंग  में अधिक पुरानी कंपनियां से लोगों को यह संतुष्टि जरूर मिलता है, कि हम एक पुरानी, बड़ी और अस्थाई कंपनी में काम कर रहे हैं| परंतु उन लोगों के लिए जो नये है, और नेटवर्क मार्केटिंग में अपना भविष्य बनाना चाह रहे हैं, उन लोगों के लिए 10 साल से अधिक पुरानी कंपनियों में अधिकतम सुनहरा अवसर नहीं मिल पाता है| क्योंकि अधिक पुरानी कंपनियों के प्लान में कई शर्ते होती है, जिसके कारण उन लोगों को जो नए हैं, और नेटवर्क मार्केटिंग में अपना भविष्य बनाना चाह रहे हैं उन लोगों को पुरानी कंपनियों में मेहनत अधिक और सफलता मिलने की संभावना कम होता है|

तीसरा लॉकडउन के बाद नेटवर्क मार्केटिंग के कौन सी कंपनियों में अधिक सफलता मिलेगा क्या आप जानते हैं?

लॉकडउन के बाद अधिकतर कंपनियों की व्यवसाय का Growth बिल्कुल नीचे आना तय है| क्योंकि कोरोना लॉकउडन के बाद नेटवर्क मार्केटिंग में लोगों को तलाश होगी, ऐसी कंपनी जहां पर जल्दी से जल्दी अधिक सफलता पा सकें|

टवर्क मार्केटिंग में 3 से 5 साल की कंपनियों में अधिक सफलता मिलने का संभावना क्यों होता है?

कोरोना लॉकडउन के बाद लोगों में बेरोजगारी अधिक बढेगी | लोगों के पास पैसे की तंगी, काम की कमी से लोग नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में अधिक संभावनाएं ढूंढगे, क्योंकि यह व्यवसाय को शुरू करने के लिए|  अधिक पूंजी की आवश्यकता नहीं होती है| परंतु लोगों को उन नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों का तलाश होगा जिस कंपनियों के प्लान में अधिक शर्तें ना हो, उत्पाद लोगों के प्रति दिन इस्तेमाल योग्य हो और अधिक सफलता पाने की संभावनाएं हो| इस परिस्थिति  में 3 से 5 साल की कंपनियों के प्लानों में अधिक शर्तें नहीं होता है, और सफल होने का अधिक अवसर होता हैं|

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी को चुनाव करते वक्त किन बातों को रखें ध्यान में?

नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करने से पहले कंपनी का कानूनी पहलू को ध्यान से देखें?

आप  जिस भी कंपनी में ज्वाइन करना चाहते हैं, उस कंपनी का नेटवर्क मार्केटिंग में आने का क्या कारण है, कहीं वह कंपनी कुछ समय के बाद रफूचक्कर तो नहीं हो जाएगी| एक अच्छी कंपनी के डायरेक्टर के पास नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय का लंबा अनुभव होना चाहिए| कंपनी का बिजनेस प्लान भारत सरकार के डायरेक्ट सेलिंग मॉडल गाइडलाइन के अनुसार होनी चाहिए| उत्पाद प्रॉब्लम सॉल्विंग (PSP) होना चाहिए|कंपनी का नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में क्या ग्रोथ है, और कंपनी में काम कर रहे लीडरों के पास अचीवमेंट क्या है| कंपनी को जांच ले की Payout, Service लोगों को सही समय में दे रही है या नहीं, कंपनी या डायरेक्टर के ऊपर कोई मुकदमा चल रहा है क्या|

कंपनीयो को और अधिक परखना चाहते हैं तो इस लिंक को क्लिक करके और अधिक जानकारी ले सकते हैं |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here