How to choose a good network marketing company| एक अच्छी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी कैसे चुनें?

6
1259

नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करने से पहले कंपनी का कानूनी पहलू को ध्यान से देखें?

(i) भारत में किसी भी कंपनी का निर्माण का सबसे पहला पड़ाव है,  Register of company (ROC) से अपना रजिस्ट्रेशन करवानी पड़ती है, आप जिस कंपनी में ज्वाइन करने जा रहे हैं, उस कंपनी को आप चेक करें कि (ROC) से वह कंपनी रजिस्ट्रेशन करवाई है या नहीं,यदि कोई भी कंपनी ROC से रजिस्ट्रेशन करवा लेती है, तो ROC उन company को देती है (सर्टिफिकेट ऑफ इनकॉरपोरेशन) सर्टिफिकेट आप चेक करें कि आपकी कंपनी के पास है या नहीं|

(ii) International standard organization (ISO) यह सर्टिफिकेशन से पता चलता है कि कंपनी अच्छी सर्विस और कंपनी द्वारा दिया गया उत्पाद की अच्छी क्वालिटी ,आप चेक कीजिए कि आपके कंपनी के पास है,

(iii) Permanent Account Number (PAN CARD) जिसके माध्यम से कंपनी अपना इनकम टैक्स भारत सरकार को दे सके|

(iv) Good And Service Tax (GST)आप जिस कंपनी में काम कर रहे हैं, वह कंपनी 20 लाख से अधिक और एक राज्य से दूसरे राज्य में अपना उत्पाद को खरीद बिक्री कर रही है, तो उस कंपनी के पास GST नंबर होना आवश्यक है, अन्यथा वह कंपनी भारत सरकार को धोखा तो दे ही रही है, आपके साथ भी धोखा हो सकता है|

(v) कंपनी के पास (ROC) रजिस्ट्रेशन नाम से कंपनी का अपना बैंक अकाउंट होना चाहिए|

(vi) भारत में किसी भी कंपनी को नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय करने के लिए नेटवर्क मार्केटिंग का (मॉडल गाइडलाइन) के अनुसार कंपनीयो को अपना कागज जमा करके अपने आप को (कंज्यूमर अफेयर्स) के लिस्ट में शामिल करना पड़ेगा, अब तभी भारत सरकार के नजर में वह कंपनी लीगल मानी जाएगी……………

(vii) Trusted Association Membership यदि कंपनियां सदस्यता लेती है तो कंपनी में काम कर रहे डिस्ट्रीब्यूटर का विश्वास और अधिक बढ़ जाता है, और इससे कंपनियां गलत कदम उठाने से बजती है, क्योंकि एसोसिएशन के नियमों से बंधी होती है|

नेटवर्क मार्केटिंग  कंपनी को ज्वाइन करने  से पहले रखें  5 बातों का ध्यान?

2. नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में आने का कंपनी का क्या कारण है,और क्या अनुभव है?

(i)नेटवर्क मार्केटिंग मे कंपनी का आने का कारण कहीं लक्ष्य यह तो नहीं कि लोगों से नेटवर्क मार्केटिंग के नाम पर लोगों  को लालच देकर कोई पोंजी स्कीम चला कर कुछ दिनों में लोगों के पैसे को लेकर रफूचक्कर हो जाना है, यह अधिकतर उन कंपनियों में होता है, जिस कंपनी के डायरेक्टर के पास नेटवर्क मार्केटिंग का कोई अनुभव नहीं होता है, आप उस कंपनी का चुनाव करें जिस कंपनियों का डायरेक्टर के पास नेटवर्क मार्केटिंग का लंबा अनुभव और अचीवमेंट हो,  और जिस कंपनी का  मैनेजमेंट सिस्टम स्ट्रांग हो|

(ii)कंपनी के जन्म से अब तक जब आप कंपनी को ज्वाइन कर रहे हैं, तब तक कंपनी का Achievement क्या है, आप चेक करें कि कंपनी ने जिन लक्ष्यों को बनाया था उसमें से Achiev कितना हो पाया है, और कंपनी में काम कर रहे डिस्ट्रीब्यूटर के पास अब तक का Achievement क्या है, इससे आपको पता चलेगा कि कंपनी का ग्रोथ रेट और कंपनी में काम कर रहे डिस्ट्रीब्यूटर का ग्रोथ रेट तो आप आसानी से उस कंपनी को लेकर सही निर्णय ले पाएंगे|

भारत में नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय विश्व के सभी देशों के तुलना में बहुत बड़ी भविष्य क्यों देखा जा  रहा है?

(iii) कंपनी का टर्नओवर बैलेंस शीट को देखकर कंपनी के शुरुआत से अब तक की टोटल बिजनेस कितना हुआ और फिर प्रति वर्ष का बिजनेस घटते क्रम में है, या बढते कर्म में है, कंपनी का बैलेंस शीट से कंपनी का सारा जानकारी ले सकते हैं, कंपनी की अब तक की प्रॉफिट कितनी है, लॉस कितनी है, और कंपनी के ऊपर Loan कितना है, यदि कोई कंपनी लंबे समय से Loss और Loan में चल रही है, तो कंपनी और डिस्ट्रीब्यूटर के भविष्य में खतरा अधिक बढ जाता है|

(iv) कंपनी या Director के ऊपर कोई मुकदमा तो नहीं चल रहा है, क्योंकि कई कंपनियां मार्केट में ऐसी होती है, कि सरकार और अपने डिस्ट्रीब्यूटर को धोखा देकर कई काम कानून के खिलाफ करने की वजह से कानूनी पेज में फंसे हुए होते हैं, तो आप इसे ध्यान से देखें परखे, क्योंकि आपका एक गलती आपके भविष्य को कई साल पीछे की और ले जा सकता है|

(v) कंपनी प्रति वर्ष अपनी वर्षगांठ मना रही है कि नहीं और प्रतिवर्ष अपना तथा कंपनी में काम कर रहे डिस्ट्रीब्यूटर का अचीवमेंट और अगले 5 साल का लक्ष्य क्या है, यह सभी रिपोर्ट कार्ड को अपने डिस्ट्रीब्यूटर के सामने प्रति वर्ष रहती है तो कंपनी अच्छी और स्टेबल है, कंपनी में आपका भविष्य उज्जवल हो सकता है |

भारत में नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत कब और किसने किया ?

3. नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में लोगों के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है कंपनी का बिजनेस प्लान कैसा है?

नेटवर्क मार्केटिंग इंडस्ट्री में कई तरह के प्लान होते हैं लेकिन मुख्यतः तीन प्रकार के प्लानो का अधिक प्रचलन है|

(i) Binary plan 2 Leg का प्लान होता है, इन कंपनियों में प्रोडक्ट के नाम पर कुछ पैकेज होते हैं, जिसे जोइनिंग पैकेज के रूप में डिस्ट्रीब्यूटर को पैसे के बदले में दिया जाता है, बिजनेस प्लान का खूबसूरती यह है कि इस तरह का प्लान में बहुत कम समय में पैसा आना शुरू हो जाता है,परंतु कई परेशानियां भी आती है, प्लान 2 Leg का होने के कारण आप 2 लोगों से अधिक को आप अपने डायरेक्टर स्पॉन्सर नहीं कर सकते हैं, आपके दो डायरेक्ट स्पॉन्सर होने के बाद आपके द्वारा कोई भी व्यक्ति आता है, तो उसे किसी ना किसी के नीचे ही आईडी लगानी होती है चाहे ग्रुप A या ग्रुप B उसके सबसे निचले आईडी के नीचे ही लगेगी Binary प्लेन कई लोगों को अच्छा लगता है, क्योंकि 2 लोगों से अधिक डायरेक्ट नहीं करना होता है, और अलग अलग ग्रुप बनाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है|

(ii) Binary मे Plan Fix Distribution नहीं होता है, कंपनी जब नई होती है और लोगों की अधिक जॉइनिंग नहीं लगी होती है, उस समय तक आपको एक तय किया गया Amount देती है, परंतु जब कंपनी में अधिक लोगों की आईडी लग जाती है, और एक जॉइनिंग से अधिक लोगों में जब पैसा बकटने लगता है तो तय किया गया Amount से  कम भी मिल सकता है, अधीक डिस्ट्रीब्यूशन होने के कारण Binary plan की कंपनियों में अधिक खतरा बढ़ जाता है, Binary  plan में आपकी इनकम फिक्स कर दिया जाता है, उससे ज्यादा आप पैसा नहीं कमा सकते हैं, क्योंकि प्लान में  Capping Tool का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे एक तय किया गया इनकम के बाद कैपिंग लग जाती है, Binary plan में इनकम लेने के लिए हर बार एक नए व्यक्ति से बिजनेस चलाने के बाद आपको इनकम मिलता  है|

(iii) Binary plan में आपके द्वारा बनाए गए टीम से बार-बार इनकम नहीं ले सकते हैं, क्योंकि Binary plan में Repurchase नहीं होता है, जिसके कारण बड़ा और स्टेबल बिजनेस नहीं होने से आपका बिजनेस और इनकम बड़ा नहीं हो पाता है, कई कंपनियों ने Binary plan में ही Repurchase  plan जोड़ने की कोशिश किया पर अधिक डिस्ट्रीब्यूशन होने के कारण अधिकतर कंपनियां सफल नहीं हो पाती है|


4.मैट्रिक्स प्लान  अन्य प्लानो से अलग क्यों है?

(i) Metrix plan Binary और Repurchase का कोंबो प्लान है, लेकिन इस प्लान में Wirth और Depth  फिक्स होता है, मैट्रिक्स प्लान में अनलिमिटेड स्पॉन्सर कर तो सकते हैं, पर आपके ट्री में लिमिटेड लोग ही दिखेंगे|

Example:- 3 Leg wirth × 3 Level Depth 

मैट्रिक्स प्लान में कंपनियां wirth और Depth की कंडीशन लगा देती है, मान लीजिए कि 3 Leg wirth × 3 Level depth का प्लान है, तो आपके पास पावर है कि आप अनलिमिटेड लोगों को Sponsor कर सकते हैं, परंतु आपके डायरेक्ट tree 3 ही खुलेगा और 3 Level  Depth तक जाएगा|

(ii) लेकिन यदि 3 Leg wirth बनाया और इन तीन Leg में से एक भी काम करना बंद कर दे तो आपका इनकम बंद हो जाता है या बहुत कम हो जाता है, फिर आपकी मैट्रिक्स प्लान में मेहनत अधिक होती है और इनकम कम हो जाती है, आप चाह कर भी अपना इनकम को बढ़ा नहीं सकते हैं,
क्योंकि मैट्रिक्स प्लान में Restriction होता है, लिमिटेड wirth और Depth के साथ ही काम कर सकते हैं|

5.Generation plan का नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में लोगों का विश्वास अन्य प्लानो से अधिक होता हैl

नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय कितनी तेजी से बढ़ रही है आइए एक रिपोर्ट में देखते हैं

 इसके कई कारण है:-

(i) Generation plan की कंपनी बड़ी प्लानिंग के साथ आती है, और लोंगटर्म गोल के लिए काम करती है, Generation plan की कंपनीया अन्य दूसरे प्लान की कंपनियों के अपेक्षा उसका मैनेजमेंट सिस्टम, सपोर्ट सिस्टम काफी स्ट्रांग होता है, जिसके कारण जेनरेशन प्लान में काम करने वाले लीडर्स भारत नहीं बल्कि पूरे दुनिया के अंदर सबसे अधिक पैसा कमाने वाले लीडरों में शुमार है|

(ii) Generation  plan को सबसे अच्छा और बेहतर बनाता है, उसका रिपरचेज मॉडल आप किसी को एक बार अपने साथ ज्वाइन कराते हैं और एक व्यक्ति से बार-बार Repurchase कराने से पैसा आता रहता है, और जनरेसन प्लान में एक बार जब एक बड़ी टीम आपका बन जाता है तो आपका पैसिव इनकम आना  शुरू हो जाता है, आप रहे या ना रहे आपके द्वारा बनाए गए टीम के माध्यम से purchase या Repurchase के व्यवसाय से आपका पैसा बनता रहता है|

1.Generation plan में आप जॉइनिंग कैसे करें और इसके क्या क्या फायदे हैं?

(i) Generation plan में जॉइनिंग करने के लिए कोई पैसा नहीं लगता है, आप चाहे तो कुछ पैसे लगाकर उत्पाद को खरीदारी करके जॉइनिंग कर सकते हैं, लेकिन जनरेशन प्लान में कंपनी कोई फिक्स चार्ज नहीं रखती है, आप कंपनी को जितना पैसा देते हैं उतना का आपको इस्तेमाल युक्त उत्पाद दे देती है, जिससे आपका कंपनी के पास कुछ भी नहीं बचता है|

(ii) Generation  plan में आप अनलिमिटेड डायरेक्ट स्पॉन्सरिंग या अनलिमिटेड लेग खोल सकते हैं|

(iii) Generation  plan में आपको अनलिमिटेड wirth और अनलिमिटेड डेप्थ तक income  मिलता है|

(vi) Generation  plan में इनकम का कोई सीमा नहीं होता है, आप जितना अधिक व्यवसाय करेंगे उतना अधिक इनकम ले सकते हैं|

2. Generation  plan में भी कई कंपनियां कर रही है लोगों के साथ धोखा?

(i) कई कंपनियां डायरेक्ट सेलिंग (मॉडल गाइडलाइन) के विरूद्ध जाकर लोगों को झूठा सपना दिखाकर एक मूस्त Rs.10000, Rs.20000, Rs.50000 और कई तरह के Joining package बनाकर काम कर रही है, और लोगों  को अनावश्यक प्रोडक्ट दे रही है,यदि कोई भी कंपनी नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में कहती है आप मेरी कंपनी में एक मुस्त पैसा लगाकर जॉइनिंग पैकेज या प्रोडक्ट खरीदारी कीजिए तो वह कंपनी नेटवर्क मार्केटिंग के नियमों का पालन नहीं कर रही है, और आपके साथ धोखा हो रहा है|

(ii) कंपनियां ऑफर के नाम पर करती है धोखा आप अनावश्यक बल्क प्रोडक्ट ना खरीदें?

कंपनीया ऑफर इसलिएनिकलती है जब कंपनी को बिजनेस अधिक चाहिए होता है, या जिस प्रोडक्ट का सेल कम होता है, कंपनी ऑफर अपने फायदे के लिए निकालती है परंतु डिस्ट्रीब्यूटर या कस्टमर को लगता है कि यह ऑफर हमारे लिए है, और लोग उत्साहित होकर अनावश्यक प्रोडक्ट को भी खरीद लेते हैं, हमें ऑफर में प्रोडक्ट खरीदनी चाहिए, परंतु उतना ही जितना आपको आवश्यक है नहीं तो आपको नुकसान हो सकता है|

3. साइड मेंटेन के नाम पर घर को बना रहे हैं दुकान और बन रहे हैं कर्जदार?

Generation  plan में लोग रॉयल्टी या फंड लेने के लिए साइड मेंटेन करते हैं, जब टीम से व्यवसाय नहीं हो पाता है तो अधिकतर लोग अपना पैसा लगाकर साइड मेंटेन करते हैं, ताकि उन्हें रॉयल्टी या  फंड मिले, परंतु लोग जितना अपना पैसा लगाते हैं, साइड मेंटेन के लिए उससे भी कम फंड या रॉयल्टी मिलता है और लोग कर्जे में डूब जाते हैं, आप अपना पैसा लगाकर साइड मेंटेन ना करें, अपनी टीम से व्यवसाय करा के साइड  मेंटेन करें|

(vi) Bulk प्रोडक्ट खरीदकर अपना Rank/ Level ना बढ़ाएं फायदा कम और नुकसान अधिक हो सकता है|

(v) लीडर्स अपने स्वार्थ के लिए डाउन लाइन से करवाते हैं आना आवश्यक Bulk खरीदारी ऐसे अपलाइन से बचें|

6.नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में कंपनी की प्रोडक्ट कैसी होनी चाहिए?

(i) एक अच्छी कंपनी प्रॉब्लम सॉल्विंग प्रोडक्ट (PSP) फॉर्मूलेशन को ध्यान में रखते हुए अपने प्रोडक्ट को बनाती है, आप जिस कंपनी में काम कर रहे हैं या किसी कंपनी में ज्वाइन करना चाहते हैं, तो कंपनी के उत्पाद को जांच परख कीजिए कि कंपनी में कितने उत्पाद ऐसे हैं जो कस्टमर या डिस्ट्रीब्यूटर के समस्याओं को खत्म करती है या खत्म करने के लिए बनाया गया है, क्योंकि कंपनी के उत्पाद लोगों की समस्याओं को दूर नहीं कर पाएगी तो उत्पाद का खपत नहीं होगा और उस कंपनी में आप अधिक पैसा या सफलता हासिल नहीं कर पाएंगे|

(ii) यूनिक उत्पाद होनी चाहिए,जो और कोई कंपनी के पास वैसा उत्पाद ना हो, यदि किसी कंपनी के पास वैसा उत्पाद हो भी तो आपके कंपनी के उत्पाद में दूसरे से अलग या कुछ यूनिक होना चाहिए, ताकि आप अपने उत्पाद की यूनिकनेस को बताकर कि मेरी उत्पाद से आपको जो समस्या है वह समस्या इस उत्पाद से खत्म हो जाएगा, ऐसी यूनिक और रिजल्ट ओरिएंटेड उत्पाद होनी चाहिए|

(iii) कंपनी जो उत्पाद बेच रही है वह उत्पाद भारत सरकार के प्रमाणिक विभाग से प्रामाणिकता ली है, कि नहीं यह भी ध्यान दें कि कंपनी में कई प्रकार के उत्पाद बेचे जाते हैं, उत्पाद प्रमाणिक के कई अलग-अलग विभाग है|

7.भारत सरकार और अन्य उत्पाद प्रमाणिक विभाग कौन-कौन है जो नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय के उत्पादों को प्रमाणिकता देती है ?

(i) गुड मैन्युफैक्चरिंग प्रैक्टिस (GMP) जो उत्पादों की गुणवत्ता को सुनिश्चित करती है|

(ii) फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ( FSSAI )यह सुनिश्चित करती है कि जो खाद्य उत्पाद को लोग इस्तेमाल कर रहे हैं, वह उत्पाद सुरक्षित है या नहीं|

(iii) फूड प्रोडक्ट ऑर्डर (FPO) जो कंपनियां फ्रूट से बना उत्पाद बेचती है, उसे FPO से अपने उत्पाद को प्रमाणिक करानी पड़ती है|

(iv) (वेजीटेरियन मार्क एंड नॉनवेजिटेरियन मार्क) या सुनिश्चित करता है कि उत्पाद शाकाहारी है या मांसाहारी हैं, किसी भी उत्पाद को जाँच  करना अनिवार्य तब हो जाता है, जब आप शाकाहारी होते हैं, शाकाहारी की उत्पाद में बिंदु हरा होती है, और मांसाहारी मे बिंदु लाल होती है|

(v) कंपनी का उत्पाद को जांच करें कि कितना आपसे पैसा लिया जा रहा है, और आपको उस मूल्य का Quality, Quantity और अच्छी Packaging के उत्पाद दे रही है या नहीं, यदि पैसा अधिक लेकर उत्पाद की क्वालिटी, क्वांटिटी, पैकेजिंग उस मूल्य तक नहीं दे रही है, तो आपको काम करने में काफी समस्या हो सकता है|

(vi) कंपनी का उत्पाद Reusable होना चाहिए, ताकि आप जिस व्यक्ति को अपना उत्पाद दे तो उत्पाद में इतनी गुणवत्ता हो कि दुबारा वह व्यक्ति आपका उत्पाद खरीदने के लिए उत्सुक हो, कई कंपनियों के पास उत्पाद  के नाम पर ऐसे उत्पाद ले आती है, एक बार खरीदने के बाद दुबारा उसका इस्तेमाल सालों बाद आती है, और लोग उस उत्पाद से संतुष्ट नहीं हो पाते हैं, आप ऐसे कंपनियों में बड़ी सफलता नहीं पा सकते हैं, नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में कभी किसी भी कंपनी के पास जब तक Reusable उत्पाद ना हो तब तक एक बड़ा सफलता नहीं ले लिया जा सकता है,

8.नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में कंपनियों का सबसे बड़ा चुनौती Payout, Service और कंपनी द्वारा किया गया वादा को पूरा ना कर पाना है?

(i) नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय में अधिकतर यह पाया जाता है, कि कंपनि या लीडर्स के द्वारा किया गया वादा पूरा नहीं कर पाते हैं, भारत में ऐसे कई अच्छी कंपनियां भी आई परंतु कंपनी का पेआउट और सर्विस अच्छी नहीं होने से कंपनी मार्केट से गायब हो गई या गायब होने के कगार में है|

(ii) कंपनी और डिस्ट्रीब्यूटर के बीच में Payout सबसे मजबूत भूमिका निभाती है, लोगों द्वारा कमाया गया पैसा जब सही समय में लोगों को कमीशन के रूप में मिलता है, तो लोगों में कंपनी के प्रति काफी अधिक विश्वास बढ़ जाता है, और कंपनी के प्रति और अधिक ईमानदार हो जाते हैं, जिससे कंपनी को अधिक फायदा मिलता है, आप किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में काम करना चाहते हैं तो आप उस कंपनी का पेआउट रिकॉर्ड को जांच ले की अब तक कंपनी Payout समय पर देते आ रही है या लोग Payout के लिए परेशान है, क्योंकि आप किसी भी कंपनी में काम करते हैं तो आपका पहला प्राथमिकता पैसा होता है, यदि आपको अपना कमाया हुआ पैसा समय पर नहीं मिल पाता है तो आपको और आपके टीम को काफी समस्या का सामना करना पड़ सकता है, किसी भी कंपनी का Payout उस स्थिति में होनी चाहिए जिस तिथि को कंपनी वादा करती है|

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here